Chhand Kise Kahate Hain: Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain | छंद किसे कहते है?: छंद कितने प्रकार के होते है?

Photo of author

Chhand Kise Kahate Hain(Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain) हिंदी व्याकरण में संधि से लेकर सर्वनाम और अन्य इकाइयों को पढ़ना विद्यार्थियों के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होता है। विद्यार्थी हर समय हिंदी व्याकरण के सभी शाखाओं को पढ़ने की रुचि जताते रहते हैं। विद्यार्थियों के लिए सिर्फ संधि और सर्वनाम पढ़ना ही काफी नहीं होता है।

हिंदी व्याकरण के और भी कई शाखाएं हैं। जैसे कि वाक्य, विशेषण और छंद इत्यादि आज के इस आर्टिकल में हम आपको छंद किसे कहते हैं (Chhand Kise Kahate Hain) और छंद कितने प्रकार के होते हैं?(Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain) इसके बारे में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

छंद किसे कहते हैं? | Chhand Kise Kahate Hain

जब किसी भी शब्द की योजना वर्णों की संख्या मात्राओं की ज्ञान और अक्षरों की संख्या के आधार पर बनाई जाती है या व्याकरण के नियमों को ध्यान में रखकर किसी भी शब्द की योजना बनाई जाती है उसे छंद कहा जाता है।

दूसरी भाषा में छंद किसे कहते हैं?(Chhand Kise Kahate Hain) इसके बारे में यदि हम बात करें तो जब वर्णों की संख्या, अक्षरों की संख्या एवं क्रम, मात्रा गणना, एवं यति-गति आदि नियम को ध्यान में रखकर जो शब्द योजना की जाती है, उसे छंद कहते है।

Chhand Kise Kahate Hain: Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain
Chhand Kise Kahate Hain: Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain

छंद कितने प्रकार के होते हैं? | Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain

  1. मात्रिक छंद
  2. वर्णिक छंद
  3. उभय छंद
  4. मुक्त छंद

मात्रिक छंद किसे कहते हैं?

जिन छंदों की रचना मात्राओं की गणना के आधार पर की जाती है, उन्हें मात्रिक छंद कहते हैं। दोहा, रोला, सोरठा, चौपाई, हरिगीतिका आदि प्रमुख मात्रिक छंद है।

जैसे:-

”बंदऊं गुरू पद पदुम परागा। सुरुचि सुबास सरस अनुरागा।।
“अमिय मुरियम चूरन चारू। समन सकल भव रुज परिवारू।।”

वर्णिक छंद किसे कहते हैं? (varnik chhand kise kahate hain)

जिन छंदों मैं केवल वर्णों की संख्या और नियमों का पालन किया जाता है, वह वर्णिक छंद कह लाता हैं।

जैसे:- दुर्मिल सवैया।

उभय छंद किसे कहते हैं?

जिन छंदों में मात्रा और वह दोनों की समानता एक साथ पाई जाती है, उन्हें उभय छंद कहते हैं।

जैसे:- मत्तगयन्द सवैया।

मुक्त छंद किसे कहते हैं?

चंदू को स्वच्छंद छंद भी कहा जाता है। इनमें मात्रा और वर्णों की संख्या निश्चित नहीं होती। उसे मुक्त छंद कहा जाता है।

जैसे:-

वह आता
दो टूक कलेजे के करता पछताता

FAQ’s

छंद किसे कहते हैं? (Chhand Kise Kahate Hain)

जब किसी भी शब्द की योजना वर्णों की संख्या मात्राओं की ज्ञान और अक्षरों की संख्या के आधार पर बनाई जाती है या व्याकरण के नियमों को ध्यान में रखकर किसी भी शब्द की योजना बनाई जाती है उसे छंद कहा जाता है।

छंद कितने प्रकार के होते हैं? (Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain)

छंद मुख्य तौर पर चार प्रकार के होते हैं।

मात्रिक छंद का कोई एक उदाहरण क्या होगा?

मात्रिक छंद का एक उदाहरण “बंदऊं गुरू पद पदुम परागा। सुरुचि सुबास सरस अनुरागा” है।

निष्कर्ष

हिंदी व्याकरण की हर शाखा को अच्छे से पढ़ना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। विद्यार्थी के लिए हिंदी में छंद किसे कहते हैं इसके बारे में जानकारी लेने की इच्छा होती है और विद्यार्थी के लिए छंद किसे कहते हैं यह बात जानना भी बहुत जरूरी है। आज के इस आर्टिकल में हमने आपको छंद किसे कहते हैं? (Chhand Kise Kahate Hain) और छंद कितने प्रकार के होते है? (Chhand Kitne Prakar Ke Hote Hain) इसके बारे में डिटेल में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी।

यह भी पढ़े:

Leave a Comment

TATA NEW CAR, BEST TATA CAR, LATEST MODEL TATA CAR, TATA PUNCH NEW MODEL, TATA PUNCH PRICE