दीपावली पर निबंध | Deepawali Essay In Hindi

Photo of author

Deepawali Essay In Hindi: भारत में बहुत सारे त्यौहार आते है। भारत को त्योहारों का देश माना जाता है। देश में आने वाले सारे त्यौहार देश में एक नई रोनक लेकर आते है। देश में जितने भी त्यौहार है। उन सभी को बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्यौहार दीपावली जिसके बारे में देश का बच्चा-बच्चा जानता है। दीपावली का त्यौहार देश और हिन्दू धर्म का लोकप्रिय त्यौहार है। देश में इस त्यौहार को बड़ी उत्सुकता के साथ मनाया जाता है।

देश में हिन्दू धर्म के लोगो के लिए दीपावली का त्यौहार खुशियों का त्यौहार मुख्य  माना जाता है। आज के इस आर्टिकल में हम Deepawali Essay In Hindi,दीपावली क्या है, दीपावली को मनाने का क्या कारण है। इसके बारे में बात करने वाले है। साथ ही साथ इस आर्टिकल में आपको दीपावली कैसे मनाई जाती है और इस साल दीपावली का त्यौहार कब आएगा। इसके बारे में भी जानकारी देखने को मिलने वाली है। इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़े। आज के आर्टिकल में हम आपको दीपावली पर निबंध (Deepawali Essay In Hindi) के बारे सम्पूर्ण जानकारी डिटेल में देने वाले है।

दीपावली पर निबंध | Deepawali Essay In Hindi

दीपावली क्या है?

Deepawali का नाम सभी लोग जानते है। यह एक हिन्दू धर्म का मुख्य त्यौहार है।  इस त्यौहार को मनाने का मुख्य कारण भी है। इस त्यौहार को इसलिए मनाया जाता है, क्योकि माना जाता है।  इस दिन भगवान् श्री राम जी ने अपना 14 साल का वनवास पूरा करके इस दिन वापस अयोध्या लोटे थे। इसी ख़ुशी में देश भर में आज भी दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन भगवान् राम के आने की ख़ुशी में अयोध्या वासियों ने घी के दीपक जलाये थे और राम जी स्वागत किया था।

साथ ही साथ उस दिन भगवान् राम के स्वागत में लोगो ने पटाखे भी फोड़े थे। वही परम्परा आज भी चल रही है। आज भी देश में यह त्यौहार इस प्रकार से मनाया जाता है। देश के कोने कोने में इस त्यौहार को मनाया जाता है। दीपावली का त्यौहार प्रती वर्ष कार्तिक मास की आमवस्या को मनाया जाता है। इस त्यौहार को साल में एक बार मनाया जाता है। देश में दीपावली का त्यौहार हिन्दू के अलावा मुस्लिम समाज के द्वारा भी मनाया जाता है। इस त्यौहार को एकता और भाईचारा का त्यौहार भी माना जाता है।

यह भी पढ़े:- बादल पर निबंध | Clouds Essay in Hindi

दीपावली को क्यों मनाया जाता है?

देश में दीपावली का त्यौहार हर साल मनाया जाता है। इसके बारे में सभी लोग जानते है,लेकिन बहुत सारे लोगो को पता नही है, की देश में इस त्यौहार को क्यों मनाया जाता है। आज के इस आर्टिकल में आपको दीपावली को देश भर में क्यों मनाया जाता है? और Deepawali Essay In Hindi के बारे में डिटेल में जानकारी मिल जाएगी।

पुराणों और शास्त्रों में बताया गया है, की आज से कई साल पहले अयोध्या नगरी में राजा दशरथ के घर पर भगवान् श्री राम ने जन्म लिया था। भगवान् श्री राम जब बड़े हुए, तो उनको अयोध्या का राज पाठ देने की तेयारी की गयी। परन्तु भगवान् राम को राजगादी पर बिठाने से पहले ही रानी केकई के कहने पर भगवान राम को 14 साल का वनवास हो गया।

वनवास होने के बाद भगवान् श्री राम और भाई लक्ष्मण के साथ वनवास पूरा करने के लिए निकल गये। तब उनके साथ माता सीता भी चली गयी थी। वनवास में भगवान् श्री राम अपनी जिन्दगी काट रहे थे। तब रावन ने माता सीता का हरण कर उनको अपने साथ जबरदस्ती श्रीलंका लेकर चला गया। जब माता सीता का हरण हुआ, तो भगवान् राम कुटिया से बाहर थे।

जब राम जी वापस आये, तो उनको माता सीता नही मिली। बाद में भगवान् राम ने माता सीता की तलाश  शुरु की तलाश  करते- करते राम जी लंका पहुच गये। उसके बाद रावन रूपी पापी का अंत करके, भगवान् राम जब 14 साल के वनवास के पश्चात वापस अयोध्या लोटे। तो भगवान् के आने ख़ुशी में सब लोगो ने घी के दीपक जलाकर उनका स्वागत किया था। इसी उपलाक्स में आज भी दीपावली को मनाया जाता है। दीपावली के त्यौहार की बात की जाए, तो यह त्यौहार देश में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। अब हम दीपावली कैसे मनाते है? और Deepawali Essay In Hindi के बारे में बात करने वाले है।

दीपावली कैसे मनाते है?

देश का सबसे लोकप्रिय त्यौहार दीपावली जिसे देश का हर व्यक्ति मनाता है। दीपावली मनाने का सिलसिला 1 महिना पहले शुरु हो जाता है। दीपावली के त्यौहार को मनाने की सही विधि क्या है, इसके बारे में हम निचे सम्पूर्ण जानकारी निचे देने वाले है।

दीपावली के त्यौहार को मनाने का सही सिलसिला 3 दिन पहले से शुरु होता है। दीपावली से पहले की बात की जाये, तो दो दिन पहले धन्तेरश को मनाया जाता है। उसके बाद में रुप्चोदस को मनाया जाता है। धनतेरस के दिन लोग 13 दीपक जलाकर मनाते है और पटाखे फोड़ते है। रुप्चोदस के दिन को लोग घर में 14 दीपक जलाकर और पटाखे फोड़कर मनाते है। दीपावली के दिन सभी लोग अपने घर में सही मुहरत पर लक्ष्मी जी की पूजा करते है। लक्ष्मी जी की पूजा का सही तरीका निचे निम्नलिखित रूप से दिया गया है।

लक्ष्मी जी की पूजा में कई सारी सामग्री का उपयोग करना होत्ता है। जब लक्ष्मी की पूजा की जाती है, तो सबसे पहले आपको लक्ष्मी जी की पूजा का सामान और मिठाइयाँ खरीदनी होगी। उसके बाद में सही मुहरत में माँ लक्ष्मी की तस्वीर की पूजा की जाती है। पूजा के समय पूजा की सामग्री को लक्ष्मी जी के भोग लगाया जाता है।

उसके पश्चात पूजा के तुरंत बाद पटाखे फोड़ कर उत्साह मनाया जाता है। दीपावली की दुसरे दिन को गोर्धन पूजा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन सुबह जल्दी उठ कर गोबर से गोर्धन पर्वत का निर्माण किया जाता है और उस गोर्धन पर्वत की पूजा की जाती है। साथ में पटाखे फोड़ कर उत्साह को और अधिक बढाया जाता है। गोर्धन पूजा के बाद शाम को घर में दीपक जलाये जाते है। उसके बाद में दीपावली के 15 दिन बाद कार्तिक पूर्णिमा का त्यौहार मनाया जाता है। इस त्यौहार की पश्चात दीपावली ख़तम हो जाती है। इस पर से दीपावली के त्यौहार को विधिवत मनाया जाता है

निष्कर्ष

दीपावली का त्यौहार हिन्दू धर्म का मुख्य त्यौहार है। इस पर्व को देश जे कोने कोने में बड़े हर्सौल्लाश के साथ मनाया जाता है। देश में दीपावली के त्यौहार का बड़ा महत्व है। आज के समय में मुस्लिम समाज के लोग भी इस त्यौहार को मनाते है। देश के हर धर्म में दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है।

आज हमने इस आर्टिकल में आपको दीपावली पर निबंध (Deepawali Essay In Hindi) की  जानकारी दी है। उम्मीद करता हु, की हमारे द्वारा लिखा गया। यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से सम्बंधित सवाल या सुझाव है। तो वह हमें कमेंट के माध्यम से बता सकता है

यह भी पढ़े:- बादल पर निबंध | Clouds Essay in Hindi

Leave a Comment

TATA NEW CAR, BEST TATA CAR, LATEST MODEL TATA CAR, TATA PUNCH NEW MODEL, TATA PUNCH PRICE