नेफ्ट फॉर्म कैसे भरें?

Photo of author

NEFT Form Kaise Bhare?: आज की टेक्नोलॉजी की दुनिया जहाँ पर हर काम ऑनलाइन हो रहा है। देश में आज के समय में हर काम ऑनलाइन हो गया है। पुराने ज़माने में व्यक्ति को पेसे एक जगह से दूसरी जगह पर भेजने के लिए खुद जाना पड़ता था। लेकिन आज के टाइम में यह काम ऑनलाइन हो चूका है। देश में आप अपने बैंक की ब्रांच में जाकर किसी के बैंक में पेसे नेफ्ट प्रक्रिया की मदद से डाल सकते है नेफ्ट के अलावा IMPS,RTGS की प्रक्रिया है जिसकी मदद से आप पेसे डाल सकते है।

आज के समय में IMPS,NEFT,RTGS को ऑनलाइन अपने नेटबैंकिंग के जरिए किया जाता है लेकिन आज भी देश में ज्यादातर लोग नेफ्ट फॉर्म भरकर पैसा ट्रांसफर कर रहे है उन लोगो को आज के आर्टिकल में हम नेफ्ट फॉर्म कैसे भरे? (NEFT Form Kaise Bhare?), NEFT क्या होता है?, NEFT से कैसे पैसे ट्रांसफर करते हैं? आइए अब हम नेफ्ट फॉर्म कैसे भरे? (NEFT Form Kaise Bhare?) के बारे में बात करते है।

नेफ्ट फॉर्म कैसे भरे? (NEFT Form Kaise Bhare?)

जब से ऑनलाइन बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग आया है तब से लोगों का बैंकों में जाना बाहर पर चक्कर लगाना बिल्कुल समाप्त हो गया है, वह काम घर बैठे ही बड़े आसानी से सारे काम कंप्लीट कर सकते हैं, इससे उनका समय भी बचता है और वह परेशान भी नहीं होते बड़ी सहजता से काम कर लेते हैं।
आधुनिकता के युग में बैंकिंग हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है।

ये भी पढ़े:- Online Paise Kaise Kamaye

जब से यह ऑनलाइन हुआ है। तब से हमारे बहुत से काम करना बहुत आसान हो गए हैं। हम को बैंक जाने और लंबी कतारों में तब तक प्रतीक्षा करने की कोई आवश्यकता नहीं है। जब तक धन हस्तांतरण के लिए अनुरोध करने की आपकी बारी ना हो, अब आपको चेक निकासी Form, और चालान भरने की भी जरूरत नहीं है। ऑनलाइन ट्रांसफर प्रक्रिया में से जो आज उपयोग में है वह NEFT।

नेफ्ट क्या है?

नेट के द्वारा हम एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। जैसे आप का खाता एसबीआई बैंक में है और आप यूको बैंक में पैसे भेजना चाहते हैं, तो इस कंडीशन में आप NEFT की मदद से एक दूसरे बैंक में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। नेफ्ट द्वारा पैसे भेजने में आपका समय भी बहुत कम लगेगा और इसमें जो चार्ज लगता है वह भी कम कटेगा।

NEFT में कितना चार्ज कटता है? NEFT Charges

NEFT का कुछ चार्ज होता है, वह कुछ इस प्रकार है-

  • 1000 से 1 लाख=Rs 4+GST
  • 1 लाख से 2 लाख=Rs12+GST
  • 2 लाख से ज्यादा=Rs 20+GST

तो कुछ यह चार्ज होते हैं वहां देने पड़ते हैं। और यह सभी चार्ज तभी आपको देना होता है जब आप ऑफलाइन तरीके से फॉर्म भर के NEFT करते हैं। और यदि आप ऑनलाइन इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा NEFT से पैसे भेजते हैं तो आप से किसी भी तरह का चार्ज नहीं लिया जाता है।

नेफ्ट कब शुरू हुआ? NEFT Kab Shuru Hua

वर्ष 2005 के दिसंबर माह में भारतीय रिजर्व बैंक ने सभी नए एनईएफटी भुगतान प्रणाली की शुरुआत की है। जो सक्रिय है और साल में 365 दिन है। तकनीक के इस नई निकासी प्रणाली के पीछे कहीं मुख्य उद्देश्य हैं, इससे डिजिटल लेनदेन और भारतीय वित्तीय बाजारों के वैश्विक एकीकरण को भी बढ़ावा मिलता है।

NEFT इसके जरिए एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर किए जाते हैं। NEFT के जरिए फंड तुरंत तो ट्रांसफर नहीं होता लेकिन हर आधे घंटे में fund transfer बैच रिलीज होते हैं। तो चलिए चलते हैं सीधा मुद्दे पर-

NEFT की फुल फॉर्म क्या होती है? (NEFT Full Form In Hindi)

सबसे पहले तो हम जान लेते हैं कि आखिर NEFT क्या है? (NEFT Kya Hota Hai)। सबसे पहले तो हम एनईएफटी की फुल फॉर्म (NEFT Ki Full Form) जान लेते हैं-

  • NEFT Full Form In Hindi:- नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर
  • NEFT Full Form In English:- National Electronics Fund Transfer


हिंदी भाषा में समझे तो इसको ‘राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण‘ भी कहा जाता है। जिससे पैसे को एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में बहुत ही आसानी से और सुरक्षित रूप से भेजा या प्राप्त किया जा सकता है।

NEFT फॉर्म कैसे भरे? | NEFT Form Kaise Bhare

नेफ्ट का फॉर्म भरने के लिए कुछ प्रोसेस होते हैं उनको कंप्लीट करना होता हैं वह कुछ इस प्रकार है-

  • हमको बैंक से एक फॉर्म दिया जाता है जिसमें कुछ फॉलो निर्देश दिए गए होते हैं हमे उनको कंप्लीट करना होता है।
  • उस फोरम में हम को सबसे पहले NEFT के ऊपर एक टिक का निशान करना होगा।
  • फिर आपको ब्रांच लिखना होगा कि कौन सी ब्रांच से नेफ्ट कर रहे हैं।
  • फिर उसमें एक दिनांक का ऑप्शन होगा उसमें आपको उस दिन की दिनांक लगानी है।
  • फिर आपको अपने ब्रांच के कोड नंबर add करना होगा।
  • उसके बाद आप कितने पैसे भेजना चाहते हैं उनको नंबर और शब्द दोनों भाषा में लिखना होगा।
  • फिर आपको अपने अकाउंट नंबर देने होंगे।
  • यदि आप चेक के द्वारा NEFT करना चाहते हैं तो आपको अपने चेक के नंबर लिखने होंगे।
  • फिर बाद में आप जिसको पैसे भेजना चाहते हैं उनका नाम लिखना होगा।
  • और सामने वाले यानी जिसे आप पैसे भेज रहे हैं, उसके बैंक का नाम और बैंक की कौनसी शाखा है, उसका नाम लिखना होगा।
  • फिर पैसे भेजने वाले का आईएफएससी (IFSC) कोड दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद जिसे आप पैसे भेज रहे हैं, उसके अकाउंट नंबर लिखना होगा।
  • फिर चार्ज कितना लगता है वह भी लिखना होगा आप यह ब्रांच मैनेजर से पूछ सकते हैं चार्ज के बारे में क्योंकि charge समय समय पर बदलती रहती है, इसलिए एनईएफटी भेजने से पहले आपको बैंक मैनेजर की सलाह ले लेनी चाहिए
  • उसके बाद आपको आप खुद का नाम लिखना होगा, अपना एड्रेस भी लिखना होगा, और अपना मोबाइल नंबर भी लिखना होगा, जिससे अगर इस फर्म में किसी भी प्रकार की त्रुटि हो तो बैंक द्वारा आप से सीधा संपर्क किया जा सके।
  • फिर फॉर्म जमा करने पर आपको एक UTR नंबर उपलब्ध करवाया जाएगा, उसको आप संभाल कर रखें यदि कोई तकनीकी गड़बड़ी होती है तो आप उसे UTR नंबर से अपने पैसे वापस प्राप्त कर सकते हैं।
  • और सारे प्रोसेस कंप्लीट करने के बाद आपको खुद के हस्ताक्षर (Sign) करने की जरूरत होगी तो जहां आपको हस्ताक्षर के निर्देश दिए होते हैं वहां पर खुद के हस्ताक्षर अवश्य करें।
  • तो इस तरह से फॉर्म में कुछ दिशा-निर्देश दिए गए होते हैं,उसको कंप्लीट करके हम आसानी से फार्म भर सकते हैं।

NEFT के अनेक बेनिफिट्स है जो आप प्राप्त कर सकते हैं एनईएफटी में फीस बहुत ही कम होती है, इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके कहीं से भी और कभी भी फाउंड ट्रांसफर किया जा सकता है। यह बहुत ही सेफ एंड सिक्योर होते हैं, यदि कभी किसी कारणों से आप का ट्रांसफर कंप्लीट नहीं हो पाता है तो ऐसे में आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि ऐसे मे आपका पैसा कहीं नहीं जाता बल्कि वापस भेजे गए अकाउंट पर प्राप्त हो जाता है।

NEFT फॉर्म भरते समय ध्यान रखने योग्य बाते

  • इसमें ध्यान रखने योग्य बात यह है कि कोई भी एनईएफटी ट्रांसफर को प्रारंभ करने से पहले बैंक का IFSC कोड रहना बहुत जरूरी है, इसके साथ-साथ दूसरे डिटेल जैसे बैंक अकाउंट नंबर, बैंक ब्रांच, अकाउंट होल्डर नाम आदि का होना भी बहुत जरूरी होता है।
  • एनईएफटी की सुविधा मुख्य रूप से दो प्रकार से की जाती है एक तो ऑफलाइन mode होती है जो कि बैंकों की शाखाओं में किया जाता है, और दूसरा ऑनलाइन mode वह है जो ऑनलाइन बैंकिंग द्वारा ग्राहकों को उपलब्ध है और बैच मे की जाती है।
  • एनईएफटी के द्वारा होने वाले समय की बचत आसान प्रक्रिया के कारण यह बहुत ही लोकप्रिय है, क्योंकि इसमें लेनदेन को ऑनलाइन बैंकिंग द्वारा बहुत ही आसानी से किया जा सकता है।

नेफ्ट फॉर्म कैसे भरे?

यह भी पढ़े:

एएनएम नर्सिंग कोर्स कैसे करें | ANM Nursing Course Kaise Kre

फर्स्ट ग्रेड टीचर कैसे बने? | 1st Grade Teacher Kaise Bane

FAQ’s Related To NEFT

NEFT की फुल फॉर्म क्या है?

इसकी फुल फॉर्म National electronic fund transferहोती है। यह एक इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर का प्रोसेस होता है, जिसके द्वारा पैसों को एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट तक आसानी से भेजा जा सकता है।

NEFT की शुरुआत कब हुई?

साल 2005 में भारतीय रिजर्व बैंक ने NEFT प्रणाली क शुरू किया था।

IFSC Code क्या है?

इसमें कुल 11 डिजिट होते हैं, इसमें अल्फाबेट्स और संख्या दोनों मौजूद होते हैं, बैंकों में पैसे ट्रांसफर या पैसों का लेनदेन करने के लिए IFSC का प्रयोग किया जाता है। इसकी फुल फॉर्म Indian financial system code. होती है।

निष्कर्ष

NEFT आज के समय का सबसे लोकप्रिय प्लेटफार्म है जिसके जरिए आज के समय मे लाखो लोग पैसा ट्रांसफर कर रहे है। आज की आर्टिकल में हमने आपको नेफ्ट फॉर्म कैसे भरे? (NEFT Form Kaise Bhare?) के बारे में जानकारी दी है। हमने कोशिश कि है, कि सरल शब्दों में आपको ज्यादा जानकारी उपलब्ध करवाई जाए। उम्मीद है आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा, अगर हमारा यह आर्टिकल आपको पसंद है तो आप अपने दोस्तों के साथ इसको शेयर कर सकते हैं, या इस आर्टिकल के बारे में आपके पास भी कोई अन्य जानकारी है तो आप हमारे साथ अवश्य शेयर करें, इसी तरह अन्य बिंदुओं पर हमारे आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

मेरा नाम राहुल सिंह है। मैं EntranceExamZone वेबसाइट का मालिक हूँ। मेरी रूचि नई सामग्री को आप तक पहुँचाने में अधिक है। इसलिए मेने अपनी यह वेबसाइट बनाकर आप तक हर नई जानकारी पहुंचाने का लक्ष्य लिया है। मेरे पास 3 वर्ष से अधिक SEO का अनुभव है और मैं 5 वर्ष से भी अधिक समय से कंटेंट राइटिंग कर रहा हूँ।

Leave a Comment